खोज

Vatican News
हैती के लोग  रियो ग्रांदे पार करते हुए मेक्सिको की सीमा पर हैती के लोग रियो ग्रांदे पार करते हुए मेक्सिको की सीमा पर  (AFP or licensors)

हैती : घुटनों के बल देश में कलीसिया सबसे आगे

अंतरराष्ट्रीय कारितास द्वारा आयोजित एक वेबिनार में, कैरेबियन देश की गंभीर स्थिति का चित्रण किया गया था, जहां काथलिक समुदाय, स्थानीय उदार संगठन के माध्यम से, पिछले 14 अगस्त के भूकंप से पीड़ित आबादी की मदद करने में शामिल है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

हैती, बुधवार 22 सितम्बर 2021 (वाटिकन न्यूज) : हैती में आए भूकंप में 2,200 से अधिक लोगों की मौत हुए एक महीने से भी अधिक समय बीत चुका है। भूकंप केवल नवीनतम घाव है जिसने द्वीप के सामाजिक और आर्थिक ताने-बाने को गंभीर रूप से परखा है। दुनिया के सबसे गरीब राज्यों में से एक, कैरिबियाई राज्य हैती के निवासी 11 मिलियन से अधिक हैं। 25% प्रतिदिन दो डॉलर से भी कम पर जीवन यापन करते हैं। आधी से अधिक आबादी (53.40%) कुपोषण और कुपोषण के गंभीर रूपों से पीड़ित है। शिशु मृत्यु दर बहुत अधिक है: प्रत्येक 1,000 पर 72 बच्चे जीवन के पांचवें वर्ष से पहले मर जाते हैं। हैती की अर्थव्यवस्था, जो पहले से ही राजनीतिक अस्थिरता और तेजी से बढ़ती हिंसा के कारण मंद थी, पिछले 14 अगस्त के भूकंप के कारण और मंदी का सामना करना पड़ा। इस नाटकीय परिदृश्य में, जहां पिछले जुलाई में राष्ट्रपति जोवेनेल मोसे की हत्या कर दी गई थी, कलीसिया परिवारों को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है।

पीड़ित आबादी के करीब है कलीसिया

वेबिनार में भाग लेते हुए, लेस केयस के धर्माध्यक्ष कार्डिनल चिबली लैंग्लॉइस ने कहा कि हैती देश गरीबी, हिंसा और तबाही से हिल गया है। आबादी के साथ कलीसिया भी पीड़ा सहती है और लोगों की मदद करने में और आराम लाने की कोशिश में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि सबसे गरीब लोग पल्ली कारितास में आशा और समर्थन पाते हैं। कलीसिया भी पीड़ित है: पुरोहितों, धर्मसंघियों और लोकधर्मियों को अपहरण कर लिया जाता है। कार्डिनल ने तब सभी कारितास और भली इच्छा वाले पुरुषों और महिलाओं से अपील की कि वे आबादी को इस भयावह स्थिति से बाहर निकालने में मदद करें। कार्डिनल चिबली लैंग्लोइस ने कहा, वर्तमान में निराश होना आसान है और लोग द्वीप छोड़ना चाहते हैं। इसके बजाय, हमें भविष्य की आशा करने के लिए, अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण में लोगों की मदद करनी चाहिए।

देश का पुनर्निर्माण किया जाना है

कारितास हैती के राष्ट्रीय निदेशक फादर जीन हेर्वे फ्रांकोइस ने याद किया कि भूकंप से हुई क्षति हैती को और भी गंभीर स्थिति में डाल देती है। सामाजिक स्थिति अधिक जटिल होती जा रही है। 300 हजार से अधिक परिवार मुश्किल में बेघर होकर सड़क पर सो रहे हैं। लोगों के पास अपने घर बनाने या मरम्मत करने के लिए आवश्यक साधन नहीं हैं। भूकंप ने बुनियादी ढांचे को भी व्यापक नुकसान पहुंचाया। उदाहरण के लिए, जल संग्रहण प्रणाली गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गई थी। विशेष रूप से दक्षिण की आबादी में गंभीर खाद्य असुरक्षा है और आपराधिक गिरोहों ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है।

फादर जीन हेर्वे फ्रांकोइस द्वारा इंगित एक अन्य मुद्दा, सहायता में शामिल कारितास टीमों की सुरक्षा की गारंटी का है। उन्होंने जोर देकर कहा कि पुनर्निर्माण जो आशा दे सकता है, हमें बढ़ावा देना चाहिए। हमें एक दीर्घकालिक पुनर्निर्माण की योजना बनाने और हैती को एक प्रकार की मानवीय निर्भरता से बाहर निकालने में मदद करने की आवश्यकता है। हमें सबसे पहले भूकंप के कारण हुए आघात के शिकार हैती वासियों का पुनर्निर्माण करना चाहिए।

चुनौतियों, समस्याओं और आशाओं के बीच भविष्य

अंतरराष्ट्रीय कारितास के महासचिव अलोसियुस जॉन ने जोर देकर कहा कि हैती के लोगों की जरूरतें बहुत अधिक हैं। सबसे पहले उन्हें सुरक्षा देना होगा। एक कलीसिया के रूप में जिस चुनौती का सामना करना पड़ता है, वह है हाईटियन आबादी को सर्वोत्तम संभव तरीके से मदद करने के लिए हस्तक्षेप करना। एक समर्थन नेटवर्क बनाया जाना चाहिए जो आशा दे सके। उन्होंने यह भी याद किया कि हाल के वर्षों में, हैती कई संकटों का शिकार रहा है। उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि गरीबों के निर्वाह की गारंटी और शिक्षा को बढ़ावा देना भी कलीसिया की प्रतिबद्धता है।

22 September 2021, 15:18