खोज

अफगानिस्तान के शरणार्थी अफगानिस्तान के शरणार्थी  (© 2021 DND-MDN Canada)

मानवीय गलियारा अफगान शरणार्थियों को सुरक्षित मार्ग प्रदान करता ह

अफ़ग़ान शरणार्थियों का एक समूह अभूतपूर्व मानवतावादी कॉरिडोर परियोजना की बदौलत रोम पहुंचा, जो कमजोर लोगों को हिंसा, गरीबी, उत्पीड़न, अन्याय से बचने के लिए एक सुरक्षित और कानूनी मार्ग की अनुमति देता है। संत इजीदियो समुदाय के अध्यक्ष परियोजना को "यूरोप के लिए एक उदाहरण" के रूप में वर्णित करते हैं

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार 25 नवम्बर 2022 (वाटिकन न्यूज) : 152 अफगान शरणार्थी गुरुवार को रोम पहुंचे, इटालियन धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा प्रवर्तित मानवीय कॉरिडोर परियोजना के हिस्से के रूप में, स्थानीय कारितास नेटवर्क, संत जीदियो समुदाय, इटली में इवांजेलिकल कलीसियाओं के संघ, वाल्डेंसियन टेबल, प्रवासन संगठन (आईओएम), इतालवी काथलिक लोकधर्मी संगठन (एआरसीआई), और शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (यू एनएचसीआर) हैं। उनका आगमन आंतरिक और विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के इतालवी मंत्रालयों के साथ एक समझौते के बाद हुआ है।

पाकिस्तान में इस्लामाबाद से यात्रा करने वाले शरणार्थियों का रोम के फ्युमिचिनो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर संत इजीदियो समुदाय के अध्यक्ष मार्को इम्पालियाज़ो, इतालवी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीईआई) के महासचिव महाधर्माध्यक्ष जुसेप्पे बटुरी, कारितास इतालियाना के निदेशक फादर मार्को पाग्निएलो और इटली में इवांजेलिकल कलीसियाओं के संघों की परिषद के एक सदस्य द्वारा स्वागत किया गया।

पूरी तरह से स्ववित्तपोषित परियोजना

अफ़ग़ान शरणार्थी, जो अगस्त 2021 में तालिबान शासन के अधिग्रहण के बाद अपने देश से भाग गए थे और जिनमें से कई एक साल से अधिक समय से पाकिस्तान में रह रहे हैं, इटली के विभिन्न क्षेत्रों में इतालवी संघों, धार्मिक समुदायों और व्यक्तिगत नागरिकों द्वारा अपने परिवारों में मेजबानी की जाएगी।

यूरोप में उनका आगमन ऐसे समय में हुआ है जब अफगानिस्तान दुनिया के सबसे व्यापक और गंभीर भूख संकटों में से एक का गवाह बन रहा है और सत्तारूढ़ तालिबान की ओर से अधिकारों और स्वतंत्रता के बढ़ते प्रतिबंध की खबरें आ रही हैं।

परियोजना के हिस्से के रूप में, उन्हें आश्रय दिया जाएगा। उन्हें आत्मनिर्भर बनाने और इतालवी समाज में एकीकृत करने में मदद की जाएगी जिसमें आवास, कानूनी सहायता, भाषा कक्षाएं, बच्चों के लिए स्कूलों में नामांकन और रोजगार में सहायता शामिल है।

यूरोप के लिए एक उदाहरण

प्रस्तावित संगठनों द्वारा मानवीय गलियारे पूरी तरह से स्व-वित्तपोषित हैं। परियोजना के लिए विचार 3 अक्टूबर 2013 को 300 से अधिक लोगों की मौत के बाद पैदा हुआ था, जब शरणार्थियों और प्रवासियों को ले जाने वाली एक नाव लम्पेडुसा के तट पर डूब गई थी।

इस त्रासदी ने इटली और यूरोप को झकझोर कर रख दिया और पार्टियों के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए और कॉरिडोर की स्थापना की गई, जिसका उद्देश्य खतरनाक यात्रा से बचाना, मानव तस्करों द्वारा शोषण को रोकना और राष्ट्रीय अधिकारियों द्वारा आवश्यक सुरक्षा नियंत्रणों के माध्यम से इटली में लोगों को "कानूनी और सुरक्षित प्रवेश" प्रदान करना था।

परियोजना के लिए संत पापा का समर्थन

संत पापा फ्राँसिस ने परियोजना का समर्थन किया है और व्यापक मानवीय गलियारे बनाने के लिए ठोस कार्रवाई का आह्वान किया है और विभिन्न अवसरों पर उन लोगों के लिए सुरक्षा और एकजुटता की पेशकश की है। परियोजना द्वारा बनाए गए कानूनी बुनियादी ढांचे की सहायता से संत पापा फ्राँसिस 2016 में ग्रीक द्वीप लेस्बोस में शरणार्थी और प्रवासी शिविरों की यात्रा के बाद तीन सीरियाई परिवारों को अपने साथ रोम लाये थे।

इटली में एक नए जीवन का निर्माण

अफगान शरणार्थियों के आगमन के तुरंत बाद एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए, संत इजीदियो समुदाय के अध्यक्ष मार्को इम्पाल्याजो ने कहा कि इटली की मानव गलियारा परियोजना यूरोपीय संघ के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत करती है कि कैसे राज्य और कलीसिया के अधिकारियों और स्थानीय गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के बीच घनिष्ठ सहयोग के माध्यम से मानवीय सुरक्षा की आवश्यकता वाले लोगों का स्वागत और एकीकरण करके प्रवासन संकट का सबसे अच्छा समाधान किया जाए।  

शरणार्थियों को संबोधित करते हुए उन्होंने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया और कहा कि इटली में उन्हें घर, स्कूल और काम के साथ एक ऐसा भविष्य मिलेगा जिससे उनके देश में युद्ध ने उन्हें वंचित रखा है।

उन्होंने कहा, “अगस्त 2021 में, जब अफ़गानिस्तान की सीमाएँ बंद थीं, तब हमने एक वादा किया था कि हम आपको नहीं भूलेंगे! हम आपको नहीं भूले हैं और आपके लिए एक घर तैयार किया है। आज हम आपका स्वागत करते हुए प्रसन्न हैं। यहाँ इटली में एक साझा भविष्य बनाने में हमारी मदद करें।”

रोम में सीरियाई शरणार्थियों के एक समूह की पुरालेख तस्वीर, मानवीय गलियारे के माध्यम से 5,300 से अधिक शरणार्थियों को यूरोप के लिए सुरक्षित मार्ग प्रदान किया गया।

अब तक इस योजना ने 5,300 से अधिक शरणार्थियों को यूरोप में प्रवेश करने की अनुमति दी है, इसके अलावा 1,800 से अधिक यूक्रेनी नागरिकों को विभिन्न यूरोपीय देशों में संत इजीदियो समुदाय द्वारा स्वागत किया गया है। आने वाले दिनों में लेबनान और लीबिया से रोम में और लोगों के आने की उम्मीद है।

हाल के सप्ताहों में इटली की नई सरकार की विपक्षी दलों द्वारा यूरोपीय स्तर पर भूमध्य सागर में संकट में प्रवासियों को बचाने के लिए संचालित निजी तौर पर चलने वाले जहाजों के खिलाफ एक सख्त नियम फिर से शुरू करने और उन्हें इतालवी धरती लाने के लिए कड़ी आलोचना की गई है।

 

25 November 2022, 15:38