गज़ा शहर से उठता धुँआ गज़ा शहर से उठता धुँआ 

डब्ल्यूसीसी ने गजा में ग्रीक ऑर्थोडॉक्स केंद्र पर बमबारी की निंदा

कलीसियाओं की विश्व परिषद का कहना है कि इस सप्ताह की शुरुआत में गज़ा में इजरायली हवाई हमलों में ऑर्थोडॉक्स सांस्कृतिक केंद्र को नष्ट करने के बाद, वह येरूसालेम के ग्रीक ऑर्थोडॉक्स प्राधिधर्माध्यक्ष के साथ एकजुटता से खड़ा है।

वाटिकन न्यूज

गज़ा, शनिवार, 4 नवंबर 2023 (रेई) : कलीसियाओं की विश्व परिषद (डब्ल्यूसीसी) ने हाल ही में गज़ा में अपने ऑर्थोडॉक्स सांस्कृतिक केंद्र के ध्वस्त किये जाने के बाद येरूसालेम के ग्रीक ऑर्थोडॉक्स प्राधिधर्माध्यक्ष के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की है।

नाकाबंदी वाली पट्टी के दक्षिणी भाग में तेल अल-हवा पड़ोस पर सोमवार और मंगलवार के बीच रातभर के हमले के दौरान इजरायली बलों द्वारा लगभग 500 लोगों को आश्रय देनेवाले केंद्र पर बमबारी की गई थी।

हमले में किसी के हताहत नहीं होने की खबर है, लेकिन कंबल, खाद्य आपूर्ति और गैस सिलेंडर सहित आईडीपी का सारा सामान मलबे में दब गया।

कलीसियाओं ने गज़ा के ग्रीक ऑर्थोडॉक्स इमारत पर हवाई हमले की निदा की

यह तबाही 19 अक्टूबर को गाजा में संत पोर्फिरियोस ग्रीक ऑर्थोडॉक्स गिरजाघर के परिसर पर इजरायली हवाई हमले के लगभग दो सप्ताह बाद हुआ, जिसमें 18 लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए हैं। शेष नागरिक जिन्हें परिसर में आश्रय मिला था, उन्हें अब पड़ोस के होली फैमिली काथलिक गिरजाघर में रखा गया है, जहाँ वर्तमान में लगभग 700 लोग आश्रय लिये हुए हैं।

एक बयान में येरूसालेम के ग्रीक ऑर्थोडॉक्स प्राधिधर्माध्यक्ष ने अपनी इमारतों में से एक पर हुए इस दूसरे हमले की कड़ी निंदा की है, यह याद करते हुए कि आवासीय क्षेत्रों पर इजरायली हवाई हमलों के कारण "सामाजिक, सांस्कृतिक और खेल केंद्र, प्रभावित लोगों के लिए आवश्यक मानवीय सेवाओं और सुरक्षित आश्रय बन गए हैं।"

एक अनुचित हमला

प्राधिधर्माध्यक्ष ने आगे कहा कि केंद्र और इसकी सेवा सुविधाओं पर हमला "गजा में संस्कृति और सामाजिक सेवाओं के स्तंभों में से एक पर सीधा और अनुचित हमला है", "गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि युद्ध की शुरुआत के बाद से अब तक इज़रायली सेना ने गज़ा में मस्जिदों और गिरजाघरों सहित 19 पूजा स्थलों को निशाना बनाया है।

“बयान में एक बार फिर आग्रह करते हुए कहा गया है कि "नागरिकों, विशेष रूप से बच्चों पर इस तरह के हमलों और नागरिक बुनियादी ढांचे की जानबूझकर तबाही को तर्कसंगत या मानवीय आधार पर उचित नहीं ठहराया जा सकता और यह मूलरूप से, सबसे बुनियादी नैतिक मूल्यों के भी विपरीत हैं। अतः गाजा पट्टी में तत्काल और व्यापक युद्धविराम की अपील की गई है।"

इस अपील को कलीसियाओं की विश्व परिषद के महासचिव माननीय जेरी पिल्ले ने दोहराया है, और ग्रीक ऑर्थोडॉक्स प्राधिधर्माध्यक्ष के साथ एकजुटता व्यक्त की है।

डब्ल्यूसीसी : नागरिकों पर हमले अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन

माननीय पिल्ले ने कहा, "नागरिकों और नागरिक बुनियादी ढांचे पर हमले अंतरराष्ट्रीय कानून का स्पष्ट उल्लंघन हैं।" "हम येरूसालेम के प्राधिधर्माध्यक्ष और दुनिया भर के कई लोगों के साथ खड़े हैं जो शरणस्थलों की रक्षा करने और निर्दोष लोगों के घायल होने और उन्हें मृत्यु से बचाने के लिए आह्वान कर रहे हैं।"

7 अक्टूबर को इज़राइल में हमास के घातक हमले के बाद, लगभग चार सप्ताह पहले इज़राइल-हमास युद्ध शुरू होने के बाद से, फिलिस्तीनी और इज़राइली स्रोतों के अनुसार मरनेवालों की संख्या 10,000 से अधिक हो गई है।

इजरायली पक्ष में 1,400 से अधिक लोग मारे गए हैं, मुख्य रूप से हमास के शुरुआती हमले के दौरान। जमीनी कार्रवाई शुरू होने के बाद से गाजा में 19 इजरायली सैनिक मारे गए हैं। फ़िलिस्तीन में मरनेवालों की संख्या 9,000 से ऊपर हो गई है।

युद्धविराम या "मानवीय विराम" पर चर्चा

अब तक इज़रायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने संघर्ष विराम की बढ़ती मांग को यह कहते हुए खारिज कर दिया है कि यह हमास के सामने "आत्मसमर्पण" होगा।

अमेरिका और अरब नेताओं ने गाजा की घेराबंदी को कम करने और नागरिकों की सहायता के लिए कम से कम कुछ समय के लिए अपने हमलों को रोकने के लिए इज़राइल पर दबाव बढ़ाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने फिलिस्तीनियों को सहायता देने और अधिक विदेशी नागरिकों और घायलों को बाहर निकालने के उद्देश्य से लड़ाई में मानवीय "विराम" का सुझाव दिया है। पिछले दो दिनों में लगभग 800 लोग मिस्र की सीमा से लगे राफा क्रॉसिंग से चले गए।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

04 November 2023, 15:29