खोज

अपोस्टोलिक पेनिटेनसियेरी द्वारा आयोजित कोर्स के प्रतिभागियों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस अपोस्टोलिक पेनिटेनसियेरी द्वारा आयोजित कोर्स के प्रतिभागियों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस  (VATICAN MEDIA Divisione Foto)

पोप : करुणा का कार्य कलीसिया के मिशनरी बुलाहट के अनुरूप

संत पापा फ्राँसिस ने बृहस्पतिवार को वाटिकन के प्रेरितिक सुधारगृह विभाग (अपोस्टोलिक पेनिटेनसियेरी) के तत्वधान में आयोजित आंतरिक मंच पर 33वें कोर्स में भाग ले रहे प्रतिभागियों को सम्बोधित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 23 मार्च 2023 (रेई) : प्रेरितिक सुधारगृह की ओर से लगभग तीन दशकों से यह कोर्स प्रदान किया जा रहा है ताकि अच्छे पापमोचकों को तैयार करने में मदद दिया जा सके। संत पापा ने विभाग को उसके इस योगदान के लिए धन्यवाद दिया एवं प्रोत्साहन दी कि वे अपने इस प्रशिक्षण कार्य को जारी रखें, जो कलीसिया को उसकी नसों में करुणा का जीवन रक्त प्रदान करता है।

प्रेरितिक प्रबोधन एवंजेली गौदियुम का कहना है कि बाहर जानेवाली कलीसिया "पिता की अनंत दया और उसकी व्यापक शक्ति के अनुभव के फल; करुणा को एक अटूट इच्छा के साथ जीती है।" इस तरह कलीसिया के मिशनरी बुलाहट एवं सभी लोगों को करुणा प्रदान करने के बीच एक अटूट संबंध है। करुणा को जीने एवं उसे सभी लोगों के बीच बांटने के द्वारा कलीसिया अपनी प्रेरितिक एवं मिशनरी कार्य को जारी रखती है। अतः कहा जा सकता है करुणा, कलीसिया की विशेषता है, खासकर, यह पवित्रता और प्रेरित होने के गुण को बढ़ाती है।

कलीसिया ने विभिन्न युगों में अपने करुणावान होने की पहचान को विभिन्न रूपों में प्रकट किया है। मुक्ति की खोज में शरीर और आत्मा से प्रभु की खोज करनेवालों को मदद दी है।  

इस प्रकार ईश्वरीय दया का कार्य कलीसिया के मिशनरी कार्य, सुसमाचार प्रचार के अनुरूप है क्योंकि इसमें ईश्वर का चेहरा प्रतिबिम्बित होता है जैसा कि येसु ने हमें दिखाया है।

यही कारण है कि खासकर चालीसा काल में यह संभव नहीं है कि इस प्रेरितिक उदारता पर ध्यान न दिया जाए, जो ठोस रूप से उन पुरोहित में प्रकट होता है जो बिना किसी हिचकिचाहट के पापस्वीकार संस्कार का अनुष्ठान करते हैं।

संत पापा ने प्रेरितिक सुधारगृह के सभी कार्यों के लिए धन्यवाद दिया जो भाई बहनों को ईश्वर के करुणामय प्रेम की कोमलता को अनुभव करने में मदद देते हैं।

 

 

23 March 2023, 16:51